Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa hindi Lyrics PDF

jai-jai-kamalasan-brahma-chalisa

Posted on December 13, 2019 at 6:10 PM




Like the page... Share on Facebook

Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa Lyrics in hindi | जय जय कमलासान | ब्रह्मा चालीसा | Chalisa.online. You will also find Lord Brahma Mantra Chanting MP3 free download, Lord Brahma Mantra Chanting MP3 Ringtone download, Lord Brahma photo, Lord Brahma Wallpapers, Lord Brahma Whatsapp status.




॥ दोहा ॥

जय ब्रह्मा जय स्वयम्भू, चतुरानन सुखमूल।
करहु कृपा निज दास पै, रहहु सदा अनुकूल।

तुम सृजक ब्रह्माण्ड के, अज विधि घाता नाम।
विश्वविधाता कीजिये, जन पै कृपा ललाम।

॥ चौपाई ॥

जय जय कमलासान जगमूला, रहहू सदा जनपै अनुकूला।
रुप चतुर्भुज परम सुहावन, तुम्हें अहैं चतुर्दिक आनन।

रक्तवर्ण तव सुभग शरीरा, मस्तक जटाजुट गंभीरा।
ताके ऊपर मुकुट विराजै, दाढ़ी श्वेत महाछवि छाजै।

श्वेतवस्त्र धारे तुम सुन्दर, है यज्ञोपवीत अति मनहर।
कानन कुण्डल सुभग विराजहिं, गल मोतिन की माला राजहिं।

चारिहु वेद तुम्हीं प्रगटाये, दिव्य ज्ञान त्रिभुवनहिं सिखाये।
ब्रह्मलोक शुभ धाम तुम्हारा, अखिल भुवन महँ यश विस्तारा।

अर्द्धागिनि तव है सावित्री, अपर नाम हिये गायत्री।
सरस्वती तब सुता मनोहर, वीणा वादिनि सब विधि मुन्दर।

कमलासन पर रहे विराजे, तुम हरिभक्ति साज सब साजे।
क्षीर सिन्धु सोवत सुरभूपा, नाभि कमल भो प्रगट अनूपा।

तेहि पर तुम आसीन कृपाला, सदा करहु सन्तन प्रतिपाला।
एक बार की कथा प्रचारी, तुम कहँ मोह भयेउ मन भारी।

कमलासन लखि कीन्ह बिचारा, और न कोउ अहै संसारा।
तब तुम कमलनाल गहि लीन्हा, अन्त विलोकन कर प्रण कीन्हा।

कोटिक वर्ष गये यहि भांती, भ्रमत भ्रमत बीते दिन राती।
पै तुम ताकर अन्त न पाये, ह्वै निराश अतिशय दुःखियाये।

पुनि बिचार मन महँ यह कीन्हा महापघ यह अति प्राचीन।
याको जन्म भयो को कारन, तबहीं मोहि करयो यह धारन।

अखिल भुवन महँ कहँ कोई नाहीं, सब कुछ अहै निहित मो माहीं।
यह निश्चय करि गरब बढ़ायो, निज कहँ ब्रह्म मानि सुखपाये।

गगन गिरा तब भई गंभीरा, ब्रह्मा वचन सुनहु धरि धीरा।
सकल सृष्टि कर स्वामी जोई, ब्रह्म अनादि अलख है सोई।

निज इच्छा इन सब निरमाये, ब्रह्मा विष्णु महेश बनाये।
सृष्टि लागि प्रगटे त्रयदेवा, सब जग इनकी करिहै सेवा।

महापघ जो तुम्हरो आसन, ता पै अहै विष्णु को शासन।
विष्णु नाभितें प्रगट्यो आई, तुम कहँ सत्य दीन्ह समुझाई।

भैतहू जाई विष्णु हितमानी, यह कहि बन्द भई नभवानी।
ताहि श्रवण कहि अचरज माना, पुनि चतुरानन कीन्ह पयाना।

कमल नाल धरि नीचे आवा, तहां विष्णु के दर्शन पावा।
शयन करत देखे सुरभूपा, श्यायमवर्ण तनु परम अनूपा।

सोहत चतुर्भुजा अतिसुन्दर, क्रीटमुकट राजत मस्तक पर।
गल बैजन्ती माल विराजै, कोटि सूर्य की शोभा लाजै।

शंख चक्र अरु गदा मनोहर, पघ नाग शय्या अति मनहर।
दिव्यरुप लखि कीन्ह प्रणामू, हर्षित भे श्रीपति सुख धामू।

बहु विधि विनय कीन्ह चतुरानन, तब लक्ष्मी पति कहेउ मुदित मन।
ब्रह्मा दूरि करहु अभिमाना, ब्रह्मारुप हम दोउ समाना।

तीजे श्री शिवशंकर आहीं, ब्रह्मरुप सब त्रिभुवन मांही।
तुम सों होई सृष्टि विस्तारा, हम पालन करिहैं संसारा।

शिव संहार करहिं सब केरा, हम तीनहुं कहँ काज घनेरा।
अगुणरुप श्री ब्रह्मा बखानहु, निराकार तिनकहँ तुम जानहु।

हम साकार रुप त्रयदेवा, करिहैं सदा ब्रह्म की सेवा।
यह सुनि ब्रह्मा परम सिहाये, परब्रह्म के यश अति गाये।

सो सब विदित वेद के नामा, मुक्ति रुप सो परम ललामा।
यहि विधि प्रभु भो जनम तुम्हारा, पुनि तुम प्रगट कीन्ह संसारा।

नाम पितामह सुन्दर पायेउ, जड़ चेतन सब कहँ निरमायेउ।
लीन्ह अनेक बार अवतारा, सुन्दर सुयश जगत विस्तारा।

देवदनुज सब तुम कहँ ध्यावहिं, मनवांछित तुम सन सब पावहिं।
जो कोउ ध्यान धरै नर नारी, ताकी आस पुजावहु सारी।

पुष्कर तीर्थ परम सुखदाई, तहँ तुम बसहु सदा सुरराई।
कुण्ड नहाइ करहि जो पूजन, ता कर दूर होई सब दूषण।




Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa Image

jai-jai-kamalasan-brahma-chalisa-hindi-Lyrics






Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa Lyrics In hindi PDF Download

View the pdf for the Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa | जय जय कमलासान | ब्रह्मा चालीसा using the link given below.



View the PDF file for Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa Here...


Few More Pages Related to Lord brahma





Benefits of Brahma Chalisa


As per Hindu mythology, there are many Benefits (fayade) of Brahma Chalisa chantings regularly.
You will get many blessing of Lord Svayambhu and get ample peace of mind.

It will be better to understand the Brahma Chalisa meaning in hindi or In your native language to maximize its Benefits.
You can chant Brahma Chalisa in Devanagari / Hindi / English / Bengali / Marathi / Telugu / Tamil / Gujarati / Kannada / Odia / Malayalam or Sanskrit language i.e. the language you like or you speak.

Brahma Chalisa Paths or Jaaps (recites)


For regular worship single recital i.e. Ek paths of Brahma Chalisa is also sufficient.
You can recite Mantra or Stotra of Lord brahma for 108 times in a single go i.e. 108 bar paths of the same, but it has to be with complete devotion and without haste.

How to do Paths (recites) of Brahma Chalisa or How to chant Brahma Chalisa?


As per Hindu mythology, The good time to chant Brahma Chalisa early in the morning on brahma muhurta and after taking bath.

I.e. While performing puja of Lord brahma, you can enlighten diyas (Better to enlight mustard oil Diya as there are many benefits of (Sarso tel) mustard oil) and enlighten essence stick (agarbatti) or the Gomay dhoop. You can also enligth camphor as there are many benefits of camphor. You can use fulmala and flowers to perform puja. You can check here how to perform Puja of Lord brahma.

You can also chant Brahma Chalisa in the evening which will help to Finish Your Day with a Peaceful Mind.

Chanting Brahma Chalisa with complete devotion and without haste will help you to make you calm and increase concentration.






lord_shree_brahma

Hindu Lord Brahma


|| ॐ ब्रह्मणे नम: ||


भगवान श्री ब्रह्मा को हिंदू धर्म (भारत) में सृष्टि के निर्माता भगवान के रूप में जाना जाता है।

उन्हें स्वयंभू के रूप में भी जाना जाता है, जिसका अर्थ है स्व-निर्मित।

भगवान ब्रह्मा चार वेदों के निर्माता हैं, इसलिए उन्हें वेदों के देवता के रूप में भी जाना जाता है।

हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, श्री ब्रह्मा देव श्री सरस्वती देवी के पति हैं।

श्री ब्रह्मा देवताओं के कुछ नाम निम्नलिखित हैं -

वेदांत याने वेदों के ईश्वर है,
ज्ञानेश्वर याने ज्ञान के देवता हैं,
चतुरसिर का अर्थ है चार मुख वाले भगवान और
स्वयंभू याने स्व-निर्मित है।

भगवान ब्रह्मा हिंदू पुराण में कई अन्य नामों से परिचित हैं।

ब्रह्मा को ब्रह्मा, विष्णु और महेश (श्री दत्तात्रेय का हिस्सा) के रूप में भी जाना जाता है, जो त्रिमूर्ति कहलाते है।

श्री ब्रह्मा हिंदू पुराण की कथा नुसार भगवान विष्णु जी की नाभि से जुड़े कमल से पैदा हुए हैं।

भगवान ब्रह्मा के मंदिर भारत की तरह बैंकॉक जैसे विश्व के अन्य हिस्सों में पाए जाते हैं।

ब्रह्म गायत्री मंत्र -

ओम् वेदात्मने च विद्मिहे हिरण्यगर्भा धीमहि |
तन्नो: ब्रह्म: प्रचोदयात ||


lord_shree_brahma_mp3_download

Listen to Digital Audio of - Brahma Mantras Online only on Chalisa.online





You can also listen to the other mp3 files such as Stotra, Mantra, Chalisa, Aarti for Lord Brahma only on Chalisa.online



Download the WhatsApp status for Lord Brahma




lord_shree_brahma_whatsapp_status_download

View Desktop Wallpapers, Mobile Wallpapers, WhatsApp Status etc. for Lord Brahma



Download Mobile and Desktop Wallpapers for Lord Brahma



You can also download the Wall-papers for Desktop and Mobiles and also Whats-App status for many files such as Stotra, Mantra, Chalisa, Aarti for Lord Ganesh only on Chalisa.online.





Watch the video for - Lord Brahma Mantra Online on Chalisa.



You can view the PDF, Images, Apps, Desktop Wall-papers, Mobile Wall-papers, WhatsApp Status etc. for Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa here on the Chalisa.online.


Thanks for visiting the page about the information of - Jai Jai Kamalasan Brahma Chalisa | जय जय कमलासान | ब्रह्मा चालीसा | on our website - Chalisa.online








You may like this as well...


^